नाबालिग को गर्म लोहे से दागा गया, परिवार न्याय की गुहार लगा रहा|

Table of Contents

नाबालिग को गर्म लोहे से दागा गया, परिवार न्याय की गुहार लगा रहा

दरभंगा: बहादुरपुर थाने के बरहेटा निवासी लाल बाबू की नाबालिग बेटी को बहला फुसला कर दिल्ली ले जाने वाला शख्स है। वहां उसके साथ अमानवीय व्यवहार किया गया। किसी तरह एक साल बाद जब मासूम घर वापस आई, तो पिता थाने में न्याय की गुहार लगा रहा था।

मासूम की मां की मौत हो चुकी है

लाल बाबू की पत्नी की मृत्यु के बाद, पिता को मासूम लड़की की देखभाल करने की चिंता थी। इस बीच, मासूम की मां, जो उसके घर में काम करती थी, आई और उसे अपने साथ नाबालिग के उज्ज्वल भविष्य के लिए दिल्ली ले गई। लेकिन जब वह एक साल बाद लौटी, तो उसके शरीर और चेहरे पर कई घाव थे। पीड़ित के शरीर पर दिखाई देने वाला प्रत्येक घाव उसके साथ हुए अत्याचारों की कहानी कह रहा है। अब बच्चे के पिता महिला पुलिस स्टेशन में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

Advertisements

मासूम लड़की ने अपना दर्द बताया

मासूम पीड़िता ने कहा कि उन्होंने उन्हें कमरे में बंद रखा और बाहर नहीं जाने दिया। मासूम लड़की ने बताया कि वे छोटी-छोटी बातों पर उसे बुरी तरह पीटते थे। एक बार, एक बोतल से पानी पीने के अपराध में, घर की मालकिन ने न केवल बुरी तरह से पिटाई की, बल्कि स्टोव पर स्टोव को गर्म करके शरीर के संवेदनशील हिस्सों को जला दिया। पीड़िता ने कहा कि एक बार जब उसने अपने चेहरे पर साबुन लगाया, तो उसने अपने दोनों गालों पर चाकू से वार किया, जिसके निशान अब भी उसके चेहरे पर मौजूद हैं। घर को ठीक से न चलाने के लिए उसे जूते से कुचल दिया गया था। किसी तरह लड़की के पिता को इस मामले के बारे में पता चला और उन्होंने उसे वापस बुला लिया।

Latest Hindi News से हमेशा अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक, ट्विटर पर फॉलो करें एवं Google News पर फॉलो करे .

Advertisements

Advertisements

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*