जिओ फाइबर के कारण ब्रॉडबैंड कितना सस्ता हो जाएगा?

Table of Contents

जिओ फाइबर के कारण ब्रॉडबैंड कितना सस्ता हो जाएगा?

‘Jio Fiber प्रीव्यू ऑफर’ विभिन्न Jio ऐप्स के साथ 100 एमबीपीएस Jio कनेक्शन मुफ़्त है। 100 जीबी डेटा उपलब्ध होगा, लेकिन इसे खत्म करने वाले उपयोगकर्ताओं को 40 जीबी का ऑनलाइन टॉप-अप दिया जाएगा। यह टॉप-अप 24 बार दिया जाएगा। यानी 1000 जीबी से ज्यादा डेटा मुफ्त मिलेगा। सब्सक्राइबर ग्राहकों से राउटर के लिए 2,500 रुपये लिए जाएंगे, जो कि रिफंडेबल होगा।

Advertisements

Jio के भारत में हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड सेवा शुरू करने से देश के तेजी से बढ़ते इंटरनेट और स्ट्रीमिंग उद्योग पर असर पड़ेगा। ‘Jio Fiber’ की वार्षिक योजनाएं मुफ्त टीवी, सेट-टॉप बॉक्स और प्रीमियम स्ट्रीमिंग सेवाएं प्रदान करती हैं। 100 एमबीपीएस से 1 जीबीपीएस तक की स्पीड के लिए, टेलीकॉम दिग्गज रिलायंस प्रति माह 700 रुपये से 10,000 रुपये का शुल्क लेगी। सस्ते इंटरनेट और मुफ्त सेवाओं पर मूल्य युद्ध की संभावना है।

2016 में, जब रिलायंस ने Jio मोबाइल सेवा के माध्यम से मुफ्त कॉल और डेटा देने की योजना शुरू की। इसके बाद, मोबाइल नेटवर्क पर इंटरनेट की कीमतें गिरने लगीं और प्रतिस्पर्धी कंपनियों और ग्राहकों का मूल्य युद्ध देखा गया। 12 अगस्त को कंपनी की वार्षिक आम बैठक में रिलायंस के चेयरमैन मुकेश अंबानी के अनुसार, Jio Fiber की कीमतें वैश्विक दरों से दस गुना अधिक थीं। टाइम्स कम होगा। सब्सक्राइबर्स को लैंडलाइन पर मुफ्त आउटगोइंग कॉल से लेकर मुफ्त एलईडी टीवी तक की योजनाओं का लाभ मिलेगा। प्रीमियम ग्राहक अपने कमरे में बैठकर “होम टीवी सेट्स पर रिलीज के दिन फिल्में देख सकेंगे”। Jio ने इसे ‘पहले दिन का पहला शो’ नाम दिया है।

इन ऑफर्स का साफ मतलब है कि रिलायंस प्रतिस्पर्धी टेलीकॉम कंपनियों, स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म और यहां तक ​​कि सिनेमा हॉल में सिर्फ एक सेवा के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी। भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ते इंटरनेट बाजारों में से एक है। इस बात की पूरी संभावना है कि वीडियो-ऑन-डिमांड मार्केट यहां बड़ा होगा। कंसल्टेंसी फर्म प्राइस वॉटरहाउस की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय मीडिया उद्योग में लगभग 46% की वृद्धि टेलीविजन, स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म और फिल्म उद्योग से है।

इस साल की शुरुआत में, रिलायंस जियो देश का सबसे बड़ा दूरसंचार ऑपरेटर बन गया। 30 जून को समाप्त पहली तिमाही में, रिलायंस जियो ने 891 करोड़ रुपये का लाभ कमाया। 5 सितंबर को लॉन्च से पहले Jio Fiber ने भी सुर्खियां बटोरीं। अगस्त में, मुकेश अंबानी की घोषणा ने दूरसंचार क्षेत्र को हिला दिया। जल्दबाज़ी में, कई प्रतिस्पर्धी टेलीकॉम ऑपरेटरों ने इसके साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए प्रस्ताव लाया।

उम्मीद के मुताबिक, अंबानी ने ऐसी योजनाओं और सुविधाओं की घोषणा की जो बेहद लुभावनी हैं। यह भी तय किया गया था कि इसके लिए ग्राहकों को लंबी अवधि के लिए मुफ्त ट्रायल ऑफर भी दिया जाएगा। इस परीक्षण अवधि के दौरान, ‘Jio Fiber प्रीव्यू ऑफर’ में विभिन्न Jio ऐप्स के साथ 100 Mbps Jio कनेक्शन है। 100 जीबी डेटा मिलेगा, लेकिन इसे खत्म करने वाले यूजर्स को 40 जीबी का ऑनलाइन टॉप-अप दिया जाएगा। यह टॉप-अप 24 बार दिया जाएगा। यानी 1000 जीबी से ज्यादा डेटा मुफ्त मिलेगा। सब्सक्राइबर ग्राहकों से राउटर के लिए 2,500 रुपये लिए जाएंगे, जो कि रिफंडेबल होगा।

प्रीमियम योजना और भी लुभावनी है। इसे लेने वाले ग्राहकों को एचडी या एलईडी टीवी सेट और 4K (अल्ट्रा-हाई डेफिनिशन) सेट-टॉप बॉक्स मिलेंगे, जिनकी मदद से आप ग्रुप वीडियो कॉल भी कर सकते हैं। Jio की इन सेवाओं के लिए लगभग 1.5 करोड़ ग्राहकों ने पंजीकरण कराया है। रिलायंस ने पूरे भारत के 1,600 शहरों में दो करोड़ परिवारों और 1.5 करोड़ व्यावसायिक संस्थानों को लाइव फाइबर देने का लक्ष्य रखा है।

Jio ने सितंबर 2016 में अपनी मोबाइल सेवाएं शुरू की थीं। इसे मुफ्त सेवाओं के साथ शुरू किया गया था। तब इसने केवल छह महीनों में 100 मिलियन ग्राहक जोड़े। इसके 34 करोड़ ग्राहक अन्य दूरसंचार ऑपरेटरों के ग्राहकों की तुलना में 30% अधिक खर्च करते हैं। इसके कारण भारत में मोबाइल डेटा की कीमतें भी बहुत तेजी से गिरीं। जब Jio Telecom लॉन्च हुआ था, तब भारत में 10 ऑपरेटर थे, आज यह संख्या घटकर मात्र चार रह गई है। एयरटेल और बीएसएनएल जैसी कई ब्रॉडबैंड कंपनियां एक बार फिर से भारत में वैसी ही संभावनाएं देख रही हैं जैसी जियो ने मोबाइल सेवाओं की शुरुआत के बाद देखी थीं।

Latest Hindi News से हमेशा अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक, ट्विटर पर फॉलो करें एवं Google News पर फॉलो करे .

Advertisements
Advertisements

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*