कोरोना (जैविक हथियार) से विश्व विजय की तरफ बढ़ता चीन

Coronavirus
Coronavirus

कोरोना से आप सब भी उतना ही वाकिफ होंगे जितना कि मैं। लेकिन जो आप नहीं जानते हैं वह मैं बताने की कोशिश कर रहा हूं। मुझे यकीन है कि आप इस पोस्ट को पढ़ने के बाद चीन के साजिश को अच्छी तरह से समझ पाएंगे।

चीन सबसे पहले कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाई और तब तक अपने फ्रिजों में रखी जब तक पूरे विश्व की आर्थिक अर्थव्यवस्था को पाताल में नहीँ उतार दिया। चीन पूरी दुनिया के इन्वेस्टर्स का हब बन गया था।
चीन ने अपने वुहान शहर में इस वायरस को छोडा और जबरदस्त मौतों के कारण भागते इन्वेस्टर्स के शेयरों को कौडी के भाव खरीद लिये और विदेशी निवेशक और उद्यमी अपनी पूंजी छोड़ कर भाग गये, चीन ने अपने द्वारा पहले से बनाई और छुपा कर रखी गई वैक्सीन को बाहर निकाल लिया और एक ही दिन में चीन हो रही मौतों को रोक दिया। इस युद्ध में चीन ने अपने कुछ लोग खोये पर पूरी दुनिया की दौलत लूट ली। आज वहाँ एक भी मौत नहीँ हुइ और न ही एक भी मरीज की संख्या बढी। आज ये वायरस पूरी दुनिया में काल की तरह चक्कर लगा रहा है।

READ ALSO:-  Malaika Arora का लुक देखने से Arjun Kapoor खुद को रोक नहीं पाए, यूं दिया कमेंट में रिएक्शन - देखें तस्वीरें
Advertisements

कमाल ये भी देखिये उन सभी देशों और शहरों की कमर टूट गई है जहाँ पर चीनी नागरिक खर्च करते थे। आज पूरा विश्वहर रोज अपनी अर्थव्यवस्था को ध्वस्त होते देख रहा है। पर 17 मार्च सै चीन की अर्थव्यवस्था दिनों दिन मजबूत हो रही है।

ये एक आर्थिक युद्ध है जिसमें चीन जीत चुका है और विश्व कुदरत से युद्ध करते करते रोज अपने जान माल को गंवा रहा है। ये भारत के लोगों का इम्यून है कि वह हर संकट में कुशल यौद्धा की तरह लडता है और जीतता है।हमारे देश के अधिकांश नागरिक इकनोमी के आकंडो में नहीँ फसते, पत्थर में से पानी निकालने की कुव्वत रखते हैं। हम भारतीय बडे से बडे रोग को रोटी के टुकड़े में लपेट कर खाने और पचाने में माहिर हैं।

READ ALSO:-  Bihar: सुशासन बाबु के राज में न्याय के लिए तरसती कुसुम देवी की आंखे
Advertisements

हम कभी कुदरत के विरुद्ध युद्ध नहीँ करते बल्कि उसकी पूजा करते हैं। हम भारतीय मन्दिरों मस्जिदों गुरुद्वारों गिरजाघरों से आवाज दे दे कर बुलाते हैं ईश्वर कोरिझाते हैं अतः वो ईश्वर हमारा अनिष्ट कर ही नहीँ सकता। पर हर भारतीय को याद रखना चाहिए कि चीन और चीनी इस कुदरत के खल नायक है इनसे हर प्रकार की दूरी बनाए
रखें…!

Latest Hindi News से हमेशा अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक, ट्विटर पर फॉलो करें एवं Google News पर फॉलो करे .

READ ALSO:-  आज के दिन ही Albert Einstein का जन्म हुआ और Stephen Hawking की मृत्यु
Advertisements

About surjeet kumar 2 Articles
सुरजीत कुमार आज बिहार के मीडिया इंडस्ट्री में एक स्थापित नाम बन चुके हैं। पत्रकारिता के क्षेत्र में तकरीबन एक दशक के संघर्ष और मेहनत ने इन्हें इस पेशे का एक जाना-माना नाम बना दिया। 2010 से पत्रकारिता के अपने सफर की शुरूआत करने वाले सुरजीत कुमार ने कई न्यूज चैनलों में अपनी सेवाएं दी है। 2010 में ए-टू-जेड न्यूज से अपने सफर की शुरूआत करने वाले सुरजीत ने कुछ वक्त तक आजाद न्यूज चैनल में भी अपनी सेवा दी लेकिन इन्होने चैनल वन न्यूज में लंबी पारी खेली। साल 2010 से 2018 तक वे बतौर ब्यूरो चीफ इस चैनल से जुड़े रहे। रोज नयी उर्जा से लबरेज रहने वाले सुरजीत कुमार गजब की नेतृत्व क्षमता रखते हैं इनके नेतृत्व कौशल का कमाल हीं रहा कि न सिर्फ वे अपने संस्थानों में न्यूज से जुड़ी टीम का नेतृत्व करते रहे बल्कि पेशेवर तरीके से संस्थान की आय के मुख्य श्रोत माने जाने वाले विज्ञापनों के उपार्जन की कला में माहिर व्यक्ति माने जाते रहे हैं। अपनी रचनात्मक क्षमताओं की वजह से कई खबरों या कार्यक्रमों में जान डाल देने वाले सुरजीत अब पत्रकार बाबू डाॅट काम के साथ हैं। बतौर एडिटर इन चीफ सुरजीत कुमार अब अपने पत्रकारिता के सफर को इस संस्थान के जरिए आगे बढ़ा रहे हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*